Why is the announcement of free travel in metro and bus a great announ

Views:
 
     
 

Presentation Description

महिलाओं के लिए फ्री-मेट्रो, फ्री-बस ट्रैवल की घोषणा को मिली-जुली प्रतिक्रिया मिल रही है। आलोचकों के एक वर्ग का कहना है कि बुजुर्गों के लिए फ्री क्यों नहीं किया। कुछ लोग कहते हैं कि केवल चुनावी स्टंट है। कुछ लोगों का कहना है कि टैक्सपेयर पर अनावश्यक बोझ बढ़ेगा। इन सबके बीच एक तबका ऐसा भी है जो इस कदम की सराहना कर रहा है। हमारे एक यूज़र ने Raise Your Voice सेक्शन में लिखा -

Comments

Presentation Transcript

slide 1:

य ह ै म े ो औ र ब स म ै व ल क घ ो ष ण ा ए क श ा न द ा र घ ो ष ण ा महलाओ ं क े लए ​ - म े ो - बस ै वल क घोषणा को मल- ज ु ल तया मल रह ह ै । आलोचक क े एक वग का कहना ह ै क ब ु ज ु ग क े लए य नहं कया । क ु छ लोग कहत े ह क क े वल च ु नावी ट ं ट ह ै । क ु छ लोग का कहना ह ै क ट ै सप े यर पर अनावयक बोझ बढ़ े गा । इन सबक े बीच एक तबका ऐसा भी ह ै जो इस कदम क सराहना कर रहा ह ै । हमार े एक य ू ज़र न े Raise Your Voice ​ स े शन म लखा - “दल क महलाओ ं क े लए म े ो और बस म ै वल क घोषणा एक शानदार घोषणा ह ै । इसस े पिलक ल े स पर महलाओ ं क उपिथत बढ़ े गी और कालांतर म महलाओ ं क े वध अपराध ईव- टिजंग म कमी आएगी । थ स अरव ं द क े जरवाल फॉर दस ।” ख़ ै र य े पढ़कर बह ु त ब े सक ग ू गल ं ग करन े पर पता चला क हमार े य ू ज़र न े जो लखा आ ं कड़ े उस बात क प ु िट करत े ह । दल म साव जनक जगह पर महलाए ँ कम दल का ल ं गान ु पात ह ै 1000 प ु ष क त ु लना म 861 महलाए ँ । 2011-12 म दल क े ल े बर फोस म महलाओ ं क भागीदार थी - 11.2 फसद राय तर क े आ ँ कड़ स े 14 फसद कम । मतलब य े ह ै क साव जनक जगह पर महलाए ँ बह ु त कम ह ।

slide 2:

तनवाह क ै सी ह ै दल म प ु ष क औसत तनवाह ह ै 265 पय े तदन । महलाओ ं क औसत तनवाह ह ै 98 पय े तदन । दल सरकार का एक प ु राना सव ह ै । इसक े म ु ताबक 2011-12 म 2004-05 क े म ु काबल े महला मक क संया म कमी आई । एक कारण हो सकता ह ै - काय थल स े आन े और वहाँ तक जान े क े लए यादा कराया । एक रसच ह ै मनीष मदान और मह े श क े नला क । यह रसच कहती ह ै क 51 तशत प ु ष क त ु लना म क े वल 27 तशत महलाए ँ पिलक ांसपोट का योग करत े ह ु ए स ु रत महस ू स करती ह । द ू र का भाव Institute of Transportation Development Policy in 2017 क एक टडी ह ै । यह टडी कहती ह ै रोज़गार शा या आधारभ ू त स ु वधाओ ं क द ू र महलाओ ं को अधक भावत करता ह ै । अधक ग ं तय वाल याा एक और महवप ू ण तय य े ह ै क महलाए ँ अधकतर छोट और अधक ग ं तय वाल याा करती ह । जो उनक े ै वल को मह ं गा बनाता ह ै । अधक ग ं तय क े पीछ े पत ृ सामाक मानसकता म घर े ल ु काम काज क िजम े दार म ु य प स े औरत क े क ं ध े पर होन े स े ह ै । उपर बताए गए तीन चार सव ज़ टडीज़ का मतलब य े ह ै क पिलक ांसपोट क आसान उपलधता महलाओ ं क सामािजक िथत को स ु धार सकता ह ै । सामािजक िथत म स ु धार पिलक प े स म महलाओ ं क बढ़ ह ु ई े ज स न क े वल उह मानसक तौर पर मजब ू त कर े गी बिक उनक े खलाफ अपराध म भी कमी आएगी । द ू षण क समया को कम करन े म आसानी इसक े अलावा पिलक ांसपोट को बढ़ावा मल े गा िजसस े द ू षण क समया को कम करन े म आसानी होगी । क ु ल मलाकर घोषणा द े श क ज़रत क े लहाज स े उचत ह ै । ल े कन इसक े यावयन म क ु छ म ु िकलात आ सकती ह । 1. सबस े पहल द ु वार होगी ल गक आधार पर याय क पहचान । 2. भ ु गतान क े तरक क खोज यक एनडीएमआरसी क े नयम क े तहत रयायत नहं द जा सकती । 3. सरकार पर पड़न े वाला वीय बोझ । 4. कराय े म कमी को ल े कर प ु ष याय क उमीद का ए े सल । बहरहाल राजन ै तक फाइल क े ढ़ े र स े अगर यह घोषणा धरातल पर आ पाई तो महलाओ ं को ोसाहन मल े गा और राजन ै तक गलय को काम करन े और अलग सोचन े का एक तरक़ा ।

authorStream Live Help